देबरबीजा में विकास खोजो यात्रा में मुख्यमंत्री के ऊपर सादा निशाना…

Spread the love

देबरबीजा में विकास खोजो यात्रा में मुख्यमंत्री के ऊपर सादा निशाना
——-
संजु जैन
बेमेतरा(देवरबीजा)=छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा चलाई जा रही प्रदेश व्यापी विकास खोजो यात्रा के तहत बेमेतरा जिला के देवरबीजा में विकास खोजो यात्रा,का आयोजन किया गया इस अवसर पर प्रदेश समन्वयक अरुण भद्रा विकास खोजो यात्रा प्रदेश संयोजक,प्रदेश इट सेल उपाध्यक्ष सत्यम शुक्ला,उपस्थित थे।
केन्द्र एवं राज्य की भाजपा सरकार कार्यकाल से सभी वर्ग के परेशान है,भाजपा सरकार के चार साल के कुशासन के दौरान किसान विरोधी नीतियो के कारण कृषि क्षेत्र में अवसाद/तनाव की स्तिथि है,प्रधानमंत्री ने किसानो को लागत+न्यूनतम समर्थन मूल्य का 50 प्रतिशत देने का वादा किया लेकिन स्तिथि आज क्या है,विगत चार सालों में एक बार भी लागत का न्यूनतम समर्थन मूल्य का 50 प्रतिशत लाभ एक भी फसल के लिए नही दिया है जब देश मे कांग्रेस पार्टी की सरकार थी तब कांग्रेस सरकार ने किसानो का 72 हजार करोड़ रुपये के ऋण माफ किये थे,इसके विपरीत भाजपा सरकार ने किसानों के ऋण माफ करने से इन्कार कर दिया,इस कारण ग्रामीण क्षेत्रो के किसान ऋण में डूब गए है,प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एक प्रकार से निजी बीमा कम्पनी मुनाफा योजना बनकर रह गई है,कृषि विकाश की दर अब तक के न्यूनतम स्तर 1.7 प्रतिशत तक गिर गईं वही,जब की यूपीए- कांग्रेस सरकार के समय यह दर 4.2 प्रतिशत थी,कृषि निर्यात गिर गये है,तथा आयात बढ़ गए है, इस कारण किसानों को दोहरा नुकसान हो रहा है,मोदी सरकार ने किसानों को निराश किया है,
आज अगर कृषि की बाद बात आती है तो वह है,रोजगार की लेकिन आज स्तिथि क्या है, सर्वत्र बेरोजगारी, नौकरिया गायब है, प्रधानमंत्री मोदी ने प्रतिवर्ष 02 करोड़ युवाओं को रोजगार सृजित करने का वादा किया था,इस हिसाब से भाजपा सरकार को इस चार सालों में 08 करोड़ रोजगार के अवसर सृजित करने चाहिए थे,लेकिन श्रम ब्यूरो के आकड़ो के अनुसार 25 लाख रोजगार के अवसर भी सृजित नही हो पाए है,विमुद्रिकरण के कारण 15 लाख रोजगार के अवसरों का नुकसान हुआ है,कुल मिलाकर युवाओं के सामने नौकरियो का भारी संकट खड़ा हो गया है,
पिछले चार सालों से अर्थव्यवस्था में भारी संकट एवं चुनौतीपूर्ण स्तिथि में है,जीडीपी संख्या में अनुकूल परिवर्तन के बावजूद भी चार सालों में जीडीपी न्यूनतम रहा है,पोट्रोल तथा डीजल की कीमतें उच्चतम स्तर पर है,तथा मोदी सरकार पिछले चार सालों में आम अदामी की जेब से 10 लाख करोड़ रूप्यो की ठगी कर चूँकि है,सरकार एक्साइज ड्यूटी 11 बार बढ़ा चुकी है जनता की मांग के बावजूद भी न तो केन्द्र सरकार और न ही भाजपा शासित राज्य सरकारें वेट तथा एक्साइज ड्यूटी में कमी कर रही है,देश की बैंके भारी वित्तीय संकट से जूझ रही है,अर्थव्यवस्था के मोदी मॉडल ने देश की अर्थशास्त्र को फेल कर दिया है,

केन्द्र एवं राज्य में भाजपा सरकार की कार्यकाल से सभी वर्ग के परेसान है,केन्द्र की नरेंद्र मोदी भाजपा सरकार के चार साल के कुशासन के दौरान किसान विरोधी नीतियो के कारण कृषि क्षेत्र में अवसाद/तनाव की स्तिथि है,प्रधानमंत्री ने किसानो को लागत+न्यूनतम समर्थन मूल्य का 50 प्रतिशत देने का वादा किया लेकिन स्तिथि आज क्या है,विगत चार सालों में एक बार भी लागत का न्यूनतम समर्थन मूल्य का 50 प्रतिशत लाभ एक भी फसल के लिए नही दिया है,
जब देश मे कांग्रेस पार्टी की सरकार थी तब कांग्रेस सरकार ने किसानो का 72 हजार करोड़ रुपये के ऋण माफ किये थे,इसके विपरीत भाजपा सरकार ने किसानों के ऋण माफ करने से इन्कार कर दिया,इस कारण ग्रामीण क्षेत्रो के किसान ऋण में डूब गए है,प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एक प्रकार से निजी बीमा कम्पनी मुनाफा योजना बनकर रह गई है,कृषि विकाश की दर अब तक के न्यूनतम स्तर 1.7 प्रतिशत तक गिर गईं वही,जब की यूपीए- कांग्रेस सरकार के समय यह दर 4.2 प्रतिशत थी,कृषि निर्यात गिर गये है,तथा आयात बढ़ गए है, इस कारण किसानों को दोहरा नुकसान हो रहा है,मोदी सरकार ने किसानों को निराश किया है,
आज अगर कृषि की बाद बात आती है तो वह है,रोजगार की लेकिन आज स्तिथि क्या है, सर्वत्र बेरोजगारी, नौकरिया गयाब है, प्रधानमंत्री मोदी ने प्रतिवर्ष 02 करोड़ युवाओं को रोजगार सृजित करने का वादा किया था,इस हिसाब से भाजपा सरकार को इस चार सालों में 08 करोड़ रोजगार के अवसर सृजित करने चाहिए थे,लेकिन श्रम ब्यूरो के आकड़ो के अनुसार 08 लाख रोजगार के अवसर भी सृजित नही हो पाए है,

चाहे हम बाते इस राज्य की भाजपा सरकार की आज ये सरकार विकास यात्रा निकाली है, अगर विकास होता तो विकास दिखता आज प्रदेश में लगातार 15 वर्षो से प्रदेश में भाजपा की सरकार है,जहां युवाओं को रोजगार नही मिल रहा है,किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य नही मिल रहा है, मजदूरों को मनरेगा के भुगतान सालों से नही हो रहा है,हर तरफ भ्रष्टाचार का बोलबाला है,आज भाजपा के शासनकाल मे किसान,मजदूर,युवा,आदिवासी एवं महिला सभी परेसान है भाजपा ने अपने चुनावी संकल्प पत्र में घोषणा किया था कि हम धान का समर्थन मूल्य प्रति क्विंटल 2100 रुपये बोनस 300 रुपये देगे तो लेकिन आज तक किसान भाइयों को न ही धान का समर्थन मूल्य मिला और नही धान का बोनस आज प्रदेश में विधानसभा का चूनाव पास होने के कारण ये राज्य की भाजपा की सरकार सिर्फ और सिर्फ मात्र 01 वर्ष का बोनस राशि देकर ये सरकार वा वाहि लूट रही है,और बाकी 04 चार वर्षो की बोनस राशि का क्या हुआ,राज्य की भाजपा सरकार ने कहा था हम किसानों की फसल की एक एक दाना खरीदेगे क्या खरीद रहे है ये हमारे किसानों की फसल की एक एक दाना,आज तक एक बार भी अपने किये गये वादे को पूरा नही कर पाई है,ये राज्य की भाजपा की सरकार,पिछले विधानसभा चुनाव पूर्व ये भाजपा की सरकार राशन कार्ड बनाया था,2013 में राज्य में भाजपा की सरकार की शासन आया तुरन्त वे राशन कार्ड काटना चालू कर दिया,आज आप सब जानते है राशन कार्ड की क्या स्तिथि क्या है, 30-33 रुपये चावल की लागत आती है,जब केंद्र में हमारी कांग्रेस पार्टी की सरकार थी,तब केन्द्र सरकार राज्य सरकार को प्रति किलो 03 रुपये चावल देता था,केन्द्र सरकार 30 रुपये घाटा खाकर चावल देता था,रमन सिंह 02 रुपये घाटा खाकर 01 रुपये में चावल दे रही है,उसका नाम है और जो 30 रुपये घाटा खाकर चावल दे रहा था उसका कहि नाम नही,आज मनरेगा में काम कर रहे श्रमिको को उनकर मेहनत का पैसा 02 सालों का नही मिला,बात करे वृद्धा पेंशन की उसको भी सरकार खा गई,आज हमारे माताओ को वृद्धा पेंशन नही मिल रही है,
ये राज्य की भाजपा सरकार जहां एक तरफ दारू बंद करने की बात कर रहे थे और आज स्वयं राज्य में दारू बेचवा रहे है, गाँव – गाँव, गली- गली सरकार शराब बेचवा रही है,
आज गैससिलेंडर का दाम आसमान छू रही है,एक ओर सरकार 200 रुपये में गैससिलेंडर देने का वावाहि लूट रही है,और दूसरी तरफ सिलेंडर की कीमत 800 रुपये आसमान छू रही है,
इस विकास खोजो यात्रा में विकास तिवारी, ,कुमुंद साहू,विजय ,झग्गर चंदेल,
कविता साहू प्रवीण शर्मा,रामेस्वर देवांगन, भीखम साहू,भारत पटेल,उत्तम गुप्ता, गौरीशंकर शर्मा,संतोष महाराज,सहदेव साहू,यशपाल साहू,साधु साहू,परेटन साहू, बिश्राम, रामकुमार,संदीप राजपूत,नोहर देवांगन,विजय देवांगन, अनिल दुबे, भोजेन्द्र निर्मलकर, विजय वर्मा,अजय सेन,मनीष साहू, रामस्वरूप,गौरी शंकर शर्मा छबिराम,सन्त वर्मा, राधेस्याम वर्मा, शिवदयाल साहू,राजू वर्मा, रामप्रसाद, रामकुमार तिवारी,तारन, चेतन साहू, खेमनल लाल, रजित साहू,,देवप्रसाद साहू,खेदू साहू,मोहन दास,मुकेश,शेरसिंह,
——–
संजु जैन न्यूज रिपोर्टर देवरबीजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *