जीवित किसान को मृत बता कर पंजीयन को किया निरस्त, किसान धान बिक्री में हो रही समस्या को लेकर कलेक्टर से लगाई गुहार…

सारंगगढ 20 December chhattisgarh.co ग्राम सालर निवासी गोपीराम सिदार पिता समारू सिदार का खेत ग्राम घोराघाटी में 0.6150 हेक्टेयर धान का रकबा में है जिसमे हर साल धान की बिक्री कनकबीरा समिति में करते आ रहा है परंतु इस वर्ष धान बेचने के लिए सोसायटी गया तो पता चला कि उनका पंजीयन निरस्त हो गया है व कारण पता किया तो संबंधित किसान की फौत हो जाने के कारण बताया गया जिससे किसान भी अचंभित है ।

शासन प्रशासन के कर्मचारियों की लापरवाही के कारण गरीब किसान आज अपनी साल भर की कमाई को औने पौने दाम पर बिचौलिए को बेचने को मजबूर है अपनी समस्या को लेकर कृषक गोपीराम सिदार ने रायगढ़ कलेक्टर, सारंगढ़ एस. डी.एम. को शिकायत करते हुए बताया कि सेवा सहकारी समिति कनकबीरा में 0. 615 हेक्टेयर का पंजीयन हुआ है परंतु सम्बन्थित कर्मचारी के द्वारा जानबूझकर अवैधानिक कृत्य करते हुए वर्तमान खरीफ वर्ष 2020-21 में उक्त पंजीयन को फौत का कारण बता कर निरस्त किया गया जबकि मैं जीवित हु कृषक गोपी राम सिदार ने दोषी कर्मचारी के ऊपर दंडात्मक कार्यवाही कर निरस्त पंजीयन को पुनर्स्थापित कर धान विक्री की अनुमति की मांग की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *