पढ़ई तुंहर दुआर घर-घर पहुंच रहा ज्ञान का प्रकाश

उत्साहित है शिक्षक और विद्यार्थी

राजनांदगांव/ डोंगरगांव। छत्तीसगढ़ सरकार की अभिनव पढ़ई तुंहर दुआर योजना के माध्यम से जिले के डोंगरगांव अंचल में घर-घर ज्ञान का प्रकाश पहुंचने लगा है। इस महती योजना को लेकर शिक्षक, विद्यार्थी व पालक बेहद उत्साहित है।
इसी तारतम्य में डोंगरगांव विकास खंड शिक्षा अधिकारी श्री आर एल पात्रे ने बुनियादी प्रशिक्षण संस्थान के सभा हाल में एक समीक्षा बैठक आहूत की थी। बैठक में पढ़ई तुंहर दुआर के नोडल अधिकारी राजेश शर्मा, बीटीआई के प्राचार्य राम अवतार साहू, एबीओ सुश्री रश्मि ठाकुर, क्षितिज सोरी, बीआरसी श्री रत्नाकर, रामकुमार ठाकुर सहित स्कूलों के प्राचार्य व शिक्षकगण उपस्थित थे। बैठक में बीईओ श्री पात्रे ने शिक्षक, विद्यार्थी पंजीयन, आन लाइन क्लास, से संबंधित आवश्यक जानकारी नियमित उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया। आने वाली समस्याओं के समाधान के साथ ही शासन की इस महत्वकांक्षी योजना को घर-घर पहुंचाने के संकल्प को दोहराया। नोडल अधिकारी राजेश शर्मा ने पढ़ई तुंहर दुआर योजना की महत्ता पर प्रकाश डाला तो एबीओ सुश्री ठाकुर, प्राचार्य श्री साहू ने इस कार्य मे आने वाली तकनीकी समस्याओं से निपटने के गुर सिखाए। बैठक में ज्यादातर समस्या विद्यार्थी पंजीयन की बताई गई। अभी की स्थिति में शिक्षकों का विद्यार्थियों से व्यक्तिशः संपर्क नहीं हो पा रहा है और पंजीयन के दौरान ओटीपी विद्यार्थी के मोबाइल पर आता है। फिर कई विद्यार्थियों से संपर्क इसलिए भी नहीं हो पाता कि उनके पालक मोबाइल रखे रहते हैं। कई जगहों पर नेटवर्क की समस्या भी सामने आती है जिससे विद्यार्थी पंजीयन का कार्य धीमा चल रहा है। इस समस्या पर नोडल अधिकारी राजेश शर्मा ने कहा कि वेबसाइट में फिलहाल विद्यार्थी पंजीयन में ओटीपी विद्यार्थियों के मोबाइल पर आने का विकल्प है। फोन उनके पालक के पास हों या फिर विद्यार्थी के पास, उनसे बातचीत कर ओटीपी प्राप्त करे या पंजीयन कार्य पूर्ण करें। धीमा ही सही पर पंजीयन हो रहा है। उन्होंने बताया कि विकासखंड क्षेत्र में अब तक 14 हजार से अधिक बच्चों का पंजीयन हो चुका है। लगभग सभी शिक्षक/शिक्षिकाओं का पंजीयन हो चुका है और ऑनलाइन क्लास चालू है जिसमें सभी रुचिगत हिस्सेदारी निभा रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *