बलरामपुर में दरिंदगी की तीसरी घटना

Spread the love


CHHATTISGARH.CO DATE 14/10/2020;- प्रदेश में विगत कुछ दिनों से लगातार रेप की घटना हो रही है एक तरह जहाँ आदिवासी अबला नारियां लगातार बलात्कार  का शिकार हो रही ही तो वहीँ दूसरी तरफ आर्थिक रूप से सबल नारियां ड्रग्स का लगातार सेवन कर रही है अपनी अनूठी संस्कृति और मनोरम परम्परा के लिए प्रसिद्ध छत्तीसढ़ न जाने किस राह की ओर बढ़ रही है कि भगवान के नाम वाले बलरामपुर में न जाने कहाँ से कंश और रावन जैसे पापी राक्षस पैदा हो गये है जो लगातार आदिवासी अबला नारियों को अपना हवस का शिकार बना रहे है और ये वेहसी काम वासना में इतने लिन्न हो गये है की इन्हें 5 साल की मासूम बाला से लेकर 17 और 14 साल की किशोरियों तक को नही छोड़ा जिन्हें यह तक ढंग से ज्ञात नही था की बाहर से सभ्य से और संस्कारी दिखने वाला यह पुरुष प्रधान समाज इतनी घिनौनी सोच रखता है जिन्हें 5 साल की मासूम कली में अपने हवस का कीड़ा दिख जाता है|  
प्रदेश में लगातार बढ़ रहे रहे रेप और बलात्कार के मामले प्रत्यक्ष रूप से छत्तीसगढ़ के कांग्रेस सरकार के कार्य प्रणाली पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करती है की पूर्ण बहुमत के साथ राज्य में आई कांग्रेस सरकार आखिर कर क्या रही ही प्रदेश के एक जिले बीते 13 दिनों में रेप के 3 मामले सामने आ चुके है पांच साल के मासूम के साथ बलात्कार पर पुलिस कार्यवाही को संतोषजनक बताने के लिए पीडिता के पिता का सहारा लें राजनीतिज्ञ मासूमियत से जवाब दे रहे है गरीब की बेटियों की अस्मत की कीमत समझना शायद इस राजनीतिज्ञों की मरी हुई सवेदना के बस में है,ही नही| इन्ही सब सवालों को लेकर महाकोशल के रिपोर्टर ने छत्तीसगढ़ के कांग्रेस कमेटी के प्रदेश प्रवक्ता शैलेश नीतिन त्रिवेदी से प्रत्यक्ष रूप से सवाल जवाब किए जिसके कुछ अंश इस प्रकार से है|
सवाल – बलरामपुर जिले में बीते 13 दिनों में रेप की तीसरी घटना हुई इसे लेकर आपकी सरकार ने क्या क्या कार्यवाही की ?
जवाब – बलात्कार एक जघन्य अपराध है इसे लेकर हमारे सरकार ने हमेशा कड़ी से कड़ी की है आप बीते दिनों बलरामपुर जिले में घटी घटना के उपर हमारे सरकार द्वारा की गई कार्यवाही को ही ले लिजिए हमारी सरकार की कार्यवाही से स्वयम पीडिता के पिता आस्वस्थ है और इसी तरह कोंडागाँव में घटी घटना की जांच पड़ताल के लिए हमने बकायदा एसआइटी का गठन किया और मामले को गंभीरता से न लेने वाले थानेदार को निलंबित भी किया |
सवाल – पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमण सिंह ने आपकी सरकार के उपर आरोप लगाया कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार आने से रेप की घटना में लगातार इजाफा हुआ है और आंकड़े की माने तो बीते 9 महीने में प्रदेश में बलात्कार के 1500 केस सामने आये है ?
जवाब – प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमण सिंह का यह बयान बिलकुल बेतुका और पूरी तरह से निराधार है वे सिर्फ हमारी सरकार का नाम खराब करना चाहते है बल्कि उनके शासन काल में बलात्कार के मामले सर चढ़कर बोल रही थी चाहे आप झलियामारी छात्रा हॉस्टल वाले बलात्कार मामले को देख लीजिये जिसमे अनुसूचित जाति की लड़िकयों के साथ लगातार बलात्कार की घटना हो रही थी या फिर सारकेगुड़ा,पेदागेलुर,मढकम हिरमें और मीना खलकों के साथ हुए न्रिसंश यौन शोषण के मामले उठाकर देख लीजिए उस समय माननीय मुख्य मंत्री जी को लज्जा नही आई जब लागातार आदिवासी महिलाओं के साथ अनाचार हो रहा था पर अब बहुत शर्म आ रही है रमन सिंह जी बल्ताकर जैसे जघन्य अपराधों पर राजनीति करना छोड़े और हिम्मत है तो हाथरश जैसे मामले पर अपनी लज्जा प्रगट करे शायद जनता माफ़ कर दे|
सवाल – हाल ही में प्रदेश के कांग्रेस सरकार के नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया ने मीडिया से सवाल जवाब के दौरान रेप जैसे घटना की तुलना कर डाली और बलरामपुर के युवती के साथ हुई बलात्कार की घटना को छोटी घटना तक कह दिया????
जवाब – देखिए हमारे नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया प्रदेश के जिम्मेदार मंत्री है वे अपना हर कार्य बड़ी सजगता और कर्तव्य निष्ठ होकर करते है उन्होंने ऐसा बयान कभी दिया ही नही बल्कि बीजेपी माननीय डहरिया जी का बयान तोड़ मरोड़कर पेश कर रही है और प्रदेश सरकार की छवी धूमिल करने का प्रयास कर रही है माननीय पूर्व मुख्यमंत्री उस समय क्यों चुपी साधे हुए थे जब एक दलित बालिका का सामूहिक बलात्कार किया गया वह कुछ न कहे इसलिए उसकी जीवा काट दिया गया उस समय मंत्री जी को सांप सूंघ गया था क्या जब एक दलित लड़की के शव को चोरी छिपे जबरदस्ती रात्रि के 2:30 जला दिया गया |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *