खेल एवं संस्कृति को जीवित रखने का सराहनीय प्रयास -राज्यपाल, तीन दिवसीय राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का रंगारंग आगाज

Spread the love

रायपुर। स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर तीन दिवसीय राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का रंगारंग आगाज रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में हुआ। मुख्य अतिथि राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित विशिष्ट अतिथियों ने दीप प्रज्जवलन कर समारोह का शुभारंभ किया। इस अवसर पर राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने युवा महोत्सव के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल को बधाई देते हुए कहा कि इससे छत्तीसगढ़ के विभिन्न ग्रामीण खेलों, लोक नृत्य, ललित कला और शास्त्रीय संगीत पर आधारित प्रतियोगिताओं से ग्रामीण खेल प्रतिभाएं निखर कर बाहर आएंगी और प्रदेश की स्थानीय कला संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राज्योत्सव, आदिवासी नृत्य महोत्सव और इस युवा महोत्सव के माध्यम से खेल एवं संस्कृति को जीवित रखने का सराहनीय प्रयास किया गया। इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को बधाई दी और कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश चहुंमुखी विकास कर रहा है। उनके नेतृत्व में छत्तीसगढ़ विकास के नये कीर्तिमान स्थापित करेगा। राज्यपाल नेे कहा कि यह दिन हमारे देश के लिए ही नहीं पूरे विश्व के लिए सबसे महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस दिन हमारे प्रेरणास्रोत स्वामी विवेकानंद की जयंती है। राज्य सरकार द्वारा रायपुर के बूढ़ापारा स्थित डे-भवन को स्मारक बनाने का फैसला सराहनीय है। उन्होंने युवाओं से कहा कि वे हौसलों के साथ संकल्प लेकर आगे बढ़ें तो जीवन में सफलता जरूर मिलेगी। राज्यपाल ने शुभारंभ अवसर पर राज्य के विभिन्न जिलों से आये कलाकारों के द्वारा लोक नृत्य पर आधारित मार्च पास्ट की प्रशंसा करते हुए प्रत्येक दल को 5-5 हजार की राशि देने की घोषणा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.