6 साल बाद इस खिलाड़ी ने पुजारा से मांगी माफी..

chhattisgarh.co 02 दिसम्बर 2021:-इंग्लैंड क्रिकेट में आए दिन नस्लवाद की खबरें आ रही हैं। मंगलवार को पाकिस्तान के अजीम रफीक  ने यॉर्कशायर काउंटी के लिए खेलने के दौरान अपने ऊपर हुए नस्लभेदी टिप्पणी होने का आरोप लगाया था। वहीं जब भारतीय टेस्ट टीम के खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा  भी 2015 में यॉर्कशायर काउंटी क्लब के लिए खेलते थे तो उन्हें भी उस वक्त नस्लवाद का शिकार होना पड़ा था।

दरअसल पुजारा को उनके साथी खिलाड़ी जैक ब्रूक्स  ‘स्टीव’ कहकर पुकारते थे। लेकिन अब करीब 6 साल बाद समरसेट के तेज गेंदबाज जैक ब्रूक्स ने पूजारा से माफी मांगी है। साथ ही उन्होंने 2012 में किए गए अपने दो नस्लवादी ट्वीट्स के लिए भी खेद जताया है।

ब्रूक्स ने मांगी

माफी बता दें कि ब्रूक्स पर आरोप है कि उन्होंने तेज गेंदबाज टायमल मिल्स और ऑक्सफोर्डशायर के लिए माइनर काउंटी क्रिकेट खेलने वाले स्टीवर्ट लॉडैट के खिलाफ भी नस्लभेदी शब्दों का इस्तेमाल किया था। वहीं ब्रूक्स ने अपने बयान में कहा कि मैं स्वीकार करता हूं

कि मैंने 2012 में मेरे द्वारा किए गए दो ट्वीट्स में इस्तेमाल किए गए भाषा नस्लवादी थे, मुझे इसका इस्तेमाल करने का गहरा अफसोस है। मैं अपने किए की माफी मांगता हूं। गौरतलब है कि अजीम रफीक ने डिजिटल, संस्कृति, मीडिया और खेल चयन समिति के सामने जो बयान दिया था उसमें ब्रूक्स का नाम भी शामिल था। रफीक ने अपने बयान में कहा था

कि वो ब्रूक्स ही थे जिन्होंने पुजारा को स्टीव कहने की प्रथा की शुरुआत की थी। ब्रूक्स आगे कहते हैं कि मैं इस संदर्भ में इसका इस्तेमाल करने की बात मानता हूं। हां मैं स्वीकार करता हूं कि मेरे द्वारा ऐसा करना अपमानजनक और गलत था।

मैंने पुजारा से संपर्क कर उनके या उनके परिवार के किसी भी अपमान के लिए माफी मांगी है। मैं उस समय इसे नस्लवादी व्यवहार के रूप में नहीं लेता था लेकिन अब मैं जानता हूं कि ये स्वीकार नहीं किया जा सकता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *