बीजेपी मोर्चा-प्रकोष्ठ के अध्यक्ष-प्रभारियों की बैठक खत्म…

Spread the love

Chhattisgarh.Co   21 AUGUST 2022  रायपुर :  बीजेपी मोर्चा-प्रकोष्ठ के अध्यक्ष-प्रभारियों की बैठक खत्म हो गई है. इस बैठक को क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जमवाल ने ली. कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में हुई बैठक में बीते कार्यों की समीक्षा की गई. साथ ही 24 अगस्त को होने वाले CM हाउस के घेराव की तैयारी को लेकर भी चर्चा की गई. जहां प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव, सह प्रभारी नितिन नबीन, संगठन महामंत्री पवन साय भी मौजूद रहे. बैठक खत्म होने के बाद सह प्रभारी नितिन नवीन ने सरकार पर जमकर निशाना साधा है

प्रदेश सह प्रभारी नितिन नबीन ने कहा, छह मोर्चा-प्रकोष्ठ की बैठक हुई है. बैठक में 24 अगस्त को बेरोजगारी के मुद्दे पर होने वाले प्रदर्शन को लेकर भी चर्चा हुई है. मोर्चा-प्रकोष्ठ की भूमिकाओं पर भी बातचीत हुई. अलग-अलग विषयों पर चर्चा हुई. किसान मोर्चा ने किसानों के मुद्दे पर बातचीत की. महिला मोर्चा ने महिलाओं के मुद्दे पर बातचीत की. राज्य में महिलाओं के विरूद्ध अपराध के मामले बढ़ रहे हैं. ऐसे मुद्दों पर सरकार को घेरने की रणनीति के लिहाज से चर्चा की गई. महिलाओं को सुरक्षा देने में सरकार नाकाम साबित हुई है.

बेरोजगारी पर बीजेपी के प्रदर्शन पर सियासत तेज हो गई है. जिला प्रशासन से अनुमति नहीं मिलने पर सह प्रभारी नितिन नबीन ने सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा किसी भी कार्यक्रम में प्रदर्शन करने के लिए शासन अनुमति दे या ना दे लोकतंत्र में अपनी बातों को रखने का सभी को अधिकार होता है. निश्चित रूप से जिला प्रशासन को यह समझना होगा कि सरकार आएगी और जाएगी, जो भी सत्ता है या विपक्ष है उसके विषय के प्रकटीकरण का उसका लोकतांत्रिक अधिकार है. इसके लिए जगह मिलनी चाहिए. बीजेपी युवा मोर्चा ने लोगों ने प्रशासन से बातचीत की है. 24 तारीख को नगर निगम व्हाइट हाउस के सामने छत्तीसगढ़ के युवा सरकार के खिलाफ हुंकार भरेंगे. सरकार के खिलाफ हल्ला बोल करेंगे

आगे उन्होंने यह भी कहा कि, मैं भूपेश सरकार को चेतावनी देता हूं कि, हमारे युवाओं को छेड़ने का प्रयास मत कीजिए, नहीं तो युवा वह क्रांति है जो सरकार को 5 साल के कार्यकाल भी पूरा करने नहीं देगी.

उन्होंने यह भी कहा कि, सभी मोर्चा के आगामी कार्यक्रम को लेकर चर्चा हुई है. आने वाले दिनों में मोर्चा के माध्यम से छत्तीसगढ़ सरकार की नाकामी को उजागर किया जाएगा. चाहे वह शराब के मुद्दे पर हो, माफिया गिरी हो, चाहे समाज में तनाव का वातावरण पैदा किये जाने का मसला हो. इन विषयों को लेकर अलग-अलग वर्गों के बीच जाकर कार्यक्रम किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *