सहकारी समितियों के कर्मचारी अपनी 5 सूत्रीय मांगो को लेकर  हड़ताल पर..

 

Forest Employee Protest - हड़ताल के सातवें दिन वनकर्मियों ने शुरू की क्रमिक  भूख हड़ताल | Patrika News

अजय अग्रवाल सक्ती : छत्तीसगढ़ सेवा सहकारी समिति कर्मचारी महासंघ के प्रांतीय संगठन द्वारा अपनी विभिन 5 सूत्री मांगों को लेकर प्रदेश के सभी सोसाइटीओं के कर्मचारी विगत  24 जुलाई 2021 से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं जिसकी सूचना उन्होंने संबंधित बैंक एवं अपने अधीनस्थ अधिकारियों को भी दे दी है  ,वहीं दूसरी ओर इनके हड़ताल पर चले जाने से खेती किसानी के समय एन वक्त पर किसानों को खाद की समस्या आ गई है क्योंकि सोसाइटी बंद होने से उन्हें उचित दर पर खाद नहीं मिल पा रहा है जिससे उन्हें औने पौने दाम पर बाजार से खाद खरीदना पड़ रहा है.

वही सरकार भी अभी इन कर्मचारियों की मांगों को लेकर आज छठवें दिन भी चुप्पी साधी हुई है, इनकी मांगो में पहला  धान खरीदी के दौरान धान परिवहन मे देरी  होने के कारण धान में आ रही सुखत एवं अतिरिक्त खर्चों की राशि समितियों को वापस दिलाया जाए, इसी प्रकार प्रदेश के 2058 सहकारी समितियों में कार्यरत कर्मचारियों को सातवें वेतनमान हेतु वेतन अनुदान पंजीयक महोदय के पत्र क्रमांक 25/ 9 /2018 व दिनांक 2/8/ 2019  स्वास्थ्य एवं पंचायत मंत्री की अनुशंसा अनुदान राशि वापस किया जाए शीघ्र लागू हो शासकीय कर्मचारी की भाती नियमित कर वेतनमान दिया जावे , इसी प्रकार प्रदेश के 2058 सहकारी समितियों में कार्यरत कर्मचारियों को सेवा नियम 2018 के अनुसार प्रबंधक पद पर संविलियन भर्ती 50% स्थान पर 100% समिति के संस्था प्रबंधक को केडर प्रबंधक पद पर संविलियन के माध्यम से किया जाए.

योग्यता तथा उम्र बंधन को शिथिल किया जाए तथा प्रदेश के जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में प्लेसमेंट भर्ती पर रोक लगाई जाए ,इसी प्रकार सहकारी समिति सेवा नियम 2018 में आंशिक संशोधन हेतु दिनांक 3/10/ 2019 को प्रेषित मांग पत्र में कार्यालय माननीय मुख्यमंत्री निवास दिनांक 11/ 11/2019 एवं माननीय सहकारिता मंत्री के पत्र दिनांक 3 /10/2019 को अनुशंसित टीप को तत्काल लागू किया जाए ,इसी प्रकार खरीफ विपणन वर्ष आगामी 2021-22 की धान खरीदी नीति में आवश्यक बिंदुओं पर विपणन संघ बैंक एवं समिति और संघ के बीच कमेटी गठित कर धान खरीदी नीति में आवश्यक संशोधन किया जाए ।उपरोक्त सभी पांच सूत्रीय मांग शीघ्र पूर्ति हेतु सकारात्मक पहल करते हुए हमारी मांगों को तत्काल पूरा करने केे लिए समिति के सभी कर्मचारी हड़ताल पर चलेेे गए हैं वहीं विपक्ष नेेे इन कर्मचारियों की मांगों को जायज हराया है।

वही इस संबंध में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित बिलासपुर शाखा शक्ति में पदस्थ शाखा प्रबंधक श्री शैलेंद्र तिवारी का कहना है कि समिति के कर्मचारी गण अपनी 5 सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं, पर क्षेत्र के किसानों को समिति के अन्य कर्मचारियों के द्वारा खाद वितरण  किया जा रहा है जिससे किसी भी प्रकार की किसानों को समस्या नहीं है. इसके अलावा क्षेत्र के अधिकतर किसानों को 24 जुलाई के पूर्व   खाद का वितरण किया जा चुका है अभी वर्तमान में भी खाद का वितरण समिति के अन्य कर्मचारियों के द्वारा किया जा रहा है क्षेत्र के किसानों को खाद को लेकर किसी प्रकार की समस्या नहीं हैl

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *