खाद की कालाबाजारी से किसान त्रस्त….

Spread the love

Chhattisgarh.Co   23 जून 2022 जगदलपुर :   खाद की कालाबाजारी से किसान त्रस्त है। भंडारण के अभाव में खाद की कमी से किसान भटक रहे हैं। किसानों को 1,350 रुपए का डीएपी 1,800 में खरीदना पड़ रहा है। दरअसल सहकारी समितियों में रासायनिक खाद की कमी के कारण किसान निजी लाइसेंसी दुकानों से उर्वरक खरीदने को मजबूर हैं। वहीं निजी दुकान संचालक किसानों की मजबूरी का फायदा उठाने से नहीं चूक रहे हैं।

किसान 1,350 रुपए की डीएपी को 1,700 से 1,800 रुपए में खरीद रहे हैं। बता दें कि पिछले साल भी सहकारी समितियों में यूरिया की किल्लत थी। किसानों ने निजी दुकानों से 700 से 800 रुपए तक में यूरिया की खरीदी की थी। हालांकि इस साल शुरूआत से ही खाद की किल्लत हुई है। इस साल 1,200 की डीएपी 1,350 रुपए, 1,000 की पोटाश 1,700 रुपए हुई है। इसी तरह खाद की कीमतों में वृद्धि से किसान हतास नजर आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.