राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम हुए ऑनलाइन ठगी का शिकार, खाते से निकाल लिए गए इतने पैसे

 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन ठगी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब शातिर ठग नेताओं को भी अपना निशाना बना रहे हैं. छत्तीसगढ़ से राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम के साथ ऑनलाइन ठगी की गई है. साल 2020 में वैधता समाप्त होने वाले क्रेडिट कार्ड से 45 हजार से अधिक पैसे निकाल लिए गए. सांसद को बैंक द्वारा पेमेंट के लिए मांग करने पर खुलासा हुआ. पुलिस ने अज्ञात ठग के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है. मामला तेलीबांधा थाना क्षेत्र का है.

थाने में दर्ज शिकायत के अनुसार राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने साल 2020 में वैधता समाप्त होने के कारण कार्ड को नष्ट कर दिया गया था, लेकिन एसबीआई बैंक ने बिना उनके सूचना दिए कार्य रिन्यू कर दिया गया. वैधता समाप्त होने के बाद न तो क्रेडिट कार्ड को जारी कराया गया और न ही नवीनीकरण कराया. बैंक खाते से पिछले कुछ दिनों में 45 हजार 668 रुपए निकाल लिए गए. जिसके बाद उन्होंने बैंक को जानकारी दी कि उनके पास कोई क्रेडिट कार्ड नहीं है.

24 फरवरी 2021 को इस कार्ड से आनलाइन ट्रांजेक्शन किया गया है. जबकि सांसद के पास वह कार्ड उपलब्ध भी नहीं है. उसकी वैधता वर्ष 2020 में ही समाप्त हो चुकी है. अनाधिकृत रूप से किए गए लेन देन की छायाप्रति संलग्न है. थाने में मामला दर्ज कराकर कार्रवाई करने की मांग की गई है.

तेलीबांधा थाना प्रभारी सोनल ग्वाला ने बताया कि राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम के साथ ठगी हुआ है. सांसद रामविचार नेताम ने अपने क्रेडिट कार्ड को 2020 में वैधता समाप्त होने के कारण नष्ट करवा दिया गया था. लेकिन क्रेडिट कार्ड बिना उनकी जानकारी के फिर रिन्यूवल करा दिया गया था. जिसके बाद सांसद के क्रेडिट कार्ड से 24 फरवरी को ऑनलाइन ट्रांस्जेक्शन हुआ है. क्रेडिट कार्ड के पेमेंट के लिए जब बैंक द्वारा उन्हें कॉल किया गया, तो पूरे मामले का खुलासा हुआ है.

अज्ञात ठग ने यू.एस के 508.92 डॉलर जो इंडियन कर्रेंसी में 36,844 रुपए है. साथ ही बैंक द्वारा टैक्स लगाने पर भुगतान की जाने वाली रकम कुल 45 हजार 668 रुपए हो गई है. पूरे मामले की शिकायत मिलते ही अज्ञात ठग के खिलाफ धारा 420 के तहत एफआईआर दर्ज कर विवेचना में लिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *