15 वें वित्त की राशि वितरण में गड़बड़ी का लगा आरोप,जनपद पंचायत  सदस्यों ने की सक्ती एसडीएम से की शिकायत…

अजय अग्रवाल सक्ती :  जनपद पंचायत सक्ति के नौ सदस्यो ने सक्ती अनुविभागीय अधिकारी से आज 15 सितंबर बुधवार को मिलकर जनपद पंचायत शक्ति में 15 वे वित्त के अंतर्गत आवंटित राशि से अनुमोदित कार्य योजना पर रोक लगाने की मांग की है, प्रतिनिधिमंडल ने एसडीएम को बताया कि जनपद पंचायत सक्ति में 15वें वित्त योजना के अंतर्गत वर्ष 2020-21 एवं वर्ष 2021-22 में लगभग ढाई करोड़ के कार्य स्वीकृत किए जाने हेतु वर्किंग कमेटी का गठन किया गया था, किंतु वर्किंग कमेटी के गठन के बावजूद जनपद अध्यक्ष द्वारा मनमाने ढंग से उपरोक्त राशि का 80% राशि अपने चहेते दो चार सदस्यों के क्षेत्रों में ही दे दिया गया है, जबकि इसका आंबटन क्षेत्र की जनसंख्या के आधार पर होना रहता है और प्रत्येक जनपद पंचायत क्षेत्र की जनसंख्या लगभग एक हि अनुपात में होता है

, तथा विगत महीनों संपन्न सामान्य सभा की बैठक में पारित संकल्प प्रस्ताव को वर्तमान परिपेक्ष में बिना चर्चा कराए ही जनपद सदस्यों की अनदेखी की जा रही है, पंचायत में सदस्यों की मांगों को निरंतर नजर अंदाज किया जा रहा है जिसकी शिकायत जिले के कलेक्टर जितेन्द्र कुमार शुक्ला से भी कर चुके हैं जिसके बाद उन्होंने आवश्यक कार्यवाही करने हेतु सक्ती एसडीएम को निर्देशित किया है एंव प्रतिनिधि मंडल ने 15 वे वित्त की वर्तमान में आवंटित राशि की अनुमोदित कार्य योजना पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है,

साथ ही धर्मेंद्र सिंह ने कहा है कि जनपद पंचायत को प्राप्त कुल राशि का आवंटन सभी जनपद क्षेत्रों में बराबर-बराबर किया जाए, तथा जब तक राशि का आवंटन विधिवत नहीं हो जाता तब तक इस पर रोक लगाई जाए।जनपद सदस्यों में धर्मेंद्र सिंह के साथ जनपद सदस्य रामकुमार गबेल, श्रीमती शशि कंवर, श्रीमती भुनेश्वरी कंवर, श्रीमती गायत्री सिदार, श्रीमती सावित्री नेताम, अमर सिंह सिदार,अशोक यादव एवं श्रीमती ननकी नोनी आदि, उपस्थित रहे। प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि हम सभी सदस्य मिलकर विधानसभा अध्यक्ष डाॅ चरणदास महंत एंव छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेंश बघेल से भी इस संदर्भ में शिकायत अवश्य करेंगे ।

वही इस संबंध में जनपद अध्यक्ष पर लग रहे हैं आरोप के संबंध में जनपद अध्यक्ष राजेश राठौर से फोन पर  संपर्क करने का प्रयास किया गया ,किंतु उनसे संपर्क नहीं हो सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *